राज कौशल पोर्टल

राज कौशल पोर्टल

लॉकडाउन के बाद आजीविका छिनने की पीड़ा झेल रहे श्रमिकों को आसानी से रोजगार मिल सके तथा श्रमिकों की कमी का सामना कर रहे उद्योगों को सुगमता से श्रमिक उपलब्ध हो सकें इसके लिए राज्य सरकार ने एक बड़ी पहल की है। मुख्यमंत्री श्री अशोक गहलोत ने इस उद्देश्य से सूचना प्रौद्योगिकी एवं संचार विभाग द्वारा विकसित राज कौशल पोर्टल तथा ऑनलाइन श्रमिक एम्प्लॉयमट एक्सचज़ का शुक्रवार को मुख्यमंत्री निवास से वीडियो कांफस के जरिए शुभारंभ किया। आवश्यकता को देखते हुए इस पोर्टल को जल्द ही मोबाइल ऐप प्लेटफार्म पर भी लाया जाएगा।

शासन सचिव श्रम डॉ. नीरज के. पवन ने प्रस्तुतीकरण म.बताया कि इस पोर्टल म.12 लाख प्रवासी श्रमिकों के साथ ही नियोजन कार्यालयों तथा भवन एवं अन्य संनिर्माण बोर्ड के पंजीकृत श्रमिकों, आरएसएलडीसी एवं आईटीआई म. प्रशिक्षित कुल 53 लाख से अधिक श्रमिकों एवं जनशक्ति का डाटा शामिल किया गया है। साथ ही करीब 11 लाख से अधिक नियोक्ताओं को भी इस पर पंजीकृत किया गया है।

राज कौशल पोर्टल क्या हैं ?

राजस्थान राज्य के निवासियों को घर के नजदीक रोजगार के अवसर प्रदान करने हेतु तथा विभिन्न व्यावसायिक गतिविधियों के लिए अपेक्षित योग्य कार्मिकों की उपलब्धता सुनिश्चित करने के लिए “राज-कौशल योजना” ऑनलाइन प्लेटफॉर्म तैयार किया गया है |

यह राजस्थान में उपलब्ध, सभी सेवा श्रेणियों की जन-शक्ति/श्रमिक व नियोक्ताओं (Employers) का एक मास्टर डेटा-बेस है। इसमें राज्य सरकार के पास उपलब्ध विभिन्न प्रकार की जन-शक्ति (संनिर्माण श्रमिक, कोविड प्रवासी श्रमिक, पंजीकृत बेरोजगार, RSLDC प्रशिक्षित, ITI प्रशिक्षित इत्यादि के डाटा को एक स्थान पर लाया गया है। साथ ही राज्य में उपलब्ध सभी संस्थान (उद्योग/व्यापार, प्रशिक्षण संस्थान) जो रोजगार देने में सक्षम है उनको BRN (Business Registration Number) या UAN (Udhyog Aadhar Number) के आधार पर इस मास्टर डेटा-बेस में लाया गया है।

राज कौशल पोर्टल के मुख्य उद्देश्य :

  • सेवाप्रदाता व सेवाग्राही हेतु ऑनलाइन प्लेटफॉर्म उपलब्ध करवाना
  • संस्थान / फर्म / कम्पनी / व्यवसायी / व्यक्ति विशेष आदि को आवश्यकतानुसार स्थानीय कार्मिक उपलब्ध करवाना
  • रोजगार के इच्छुक लोगों को घर के नजदीक सेवा प्रदाता की जानकारी प्रदान करना
  • आवश्यकतानुसार श्रम शक्ति का विशेष प्रशिक्षण करवाकर कौशल उन्नयन करना
  • राज्य में उपलब्ध श्रम शक्ति के उत्थान के लिए योजनाओ के निर्माण में सहायता हेतु इनका ट्रैक रिकॉर्ड व डेटाबेस तैयार करना
  • ऑनलाइन रोजगार केंद्र के रूप में कार्य कर, कोराना जैसी महामारी या आपदा के समय बेरोजगारों को रोजगार के अवसर तथा औद्योगिक श्रम की आपूर्ति सुनिश्चित करना
  • प्रति व्यक्ति आय में वृद्धि करना
  • आपदा प्रबंधन हेतु स्थानीय संसाधनों की उपलब्धता

राज-कौशल पर कोई श्रमिक/जन-शक्ति अपना पंजीयन किस प्रकार करवा सकता है?

  • इसके लिए श्रमिक sso.rajasthan.gov.in में अथवा rajkhaushal.rajasthan.gov.in के माध्यम से अपनी sso ID से login करके G2C एप्लीकेशन में Rajkaushal एप्लीकेशन को Access करके।
  • निकटतम eMitra कियोस्क पर जाकर। पंजीयन करवाते समय यदि उसका डाटा राज-कौशल में उपलब्ध है तो कुछ सूचनाएं स्वत: ही भर जाएगी साथ ही वह अपनी रोजगार की स्थिति, सेवा श्रेणी, कार्य का प्रकार, शैक्षणिक योग्यता, तकनीकी योग्यता, प्रशिक्षण की आवश्यकता इत्यादि डालकर अपना पंजीयन करवा सकता है।

राज-कौशल पर कोई नियोक्ता (Employer) अपना पंजीयन किस प्रकार करवा सकता है?

कोई भी नियोक्ता अपनी sso ID का उपयोग करके स्वयं अथवा ईमित्र कियोस्क पर उपलब्ध सर्विस के द्वारा इस पोर्टल पर अपना पंजीयन करवा सकता है। सबसे पहले नियोक्ता को BRN (Business Registration Number) डालना है। यदि नियोक्ता के BRN नंबर नहीं है तो वह दिए गए Link का उपयोग करके तुरंत BRN ले सकता है। BRN पंजीयन के आधार पर नियोक्ता की अधिकांश सूचना स्वत: ही भर जाएगी। उसके यहां पर जन-शक्ति से संबंधित अधिकारी/कर्मचारी से संबंधित सूचना भर कर वह अपना पंजीयन कर पाएगा। पंजीयन होने पर उसे SMS द्वारा सूचित कर दिया जाएगा।

श्रमिक/जन-शक्ति हेतु राज-कौशल पोर्टल पर श्रमिक/जन-शक्ति हेतु क्या सेवाएं उपलब्ध है?

  • पंजीयन।
  • प्रोफाइल देखना, अपडेट करना।
  • नई सेवा/स्किल को जोड़ना
  • रोजगार की स्थिति अपडेट करना।
  • अपनी सेवा की श्रेणी व कार्य के आधार पर उपलब्ध रोज़गारों की तलाश करना।
  • किसी उपलब्ध रोजगार में अपनी रुचि दर्शाना, ऐसा करने पर उसकी सूचना संबंधित नियोक्ता के पास उपलब्ध हो जाएगी।
  • अपने आवेदनों की स्थिति जांचना
  • प्रशिक्षण की आवश्यकता को दर्ज कराना।

नियोक्ता (उद्योग, व्यापार प्रशिक्षण संस्थान/ ठेकेदार हेतु राज-कौशल पोर्टल पर क्या-क्या सेवाएं उपलब्ध है?

  • पंजीयन।
  • प्रोफाइल देखना, अपडेट करना।
  • अपने संस्थान में रोजगार की आवश्यकता दर्ज करना।
  • दर्ज आवश्यकता के आधार पर उपलब्ध श्रमिक/ जन-शक्ति उसे visible हो जाएगी। उसमें से किसी का भी प्रोफाइल देख कर नियोक्ता उसे SMS भेज पाएगा।
  • उपलब्ध श्रमिक/ जन-शक्ति में से नियोक्ता अपनी आवश्यकता सेवा की श्रेणी, कार्य का आधार, पता इत्यादि) के आधार पर तलाश कर सकता है, तथा किसी भी श्रमिक/ जन-शक्ति के प्रोफाइल में SMS भेज कर अपनी रुचि दर्शा सकता है।
  • दर्ज आवश्यकता के विरुद्ध श्रमिक/ जन-शक्ति से प्राप्त रुचि अथवा स्वयं द्वारा दर्शायी गयी रुचि के आधार पर यदि किसी श्रमिक/ जन-शक्ति का नियोक्ता द्वारा चयन किया जाता है तो यह सूचना नियोक्ता को अपडेट करनी होगी।

श्रमिक/ जन-शक्ति व नियोक्ता हेतु महत्वपूर्ण निर्देश :

  • श्रमिक/ जन-शक्ति को नियोक्ता की प्रमाणिकता स्वयं के स्तर पर जांचनी होगी। इस संबंध में राज-कौशल पोर्टल/ राजस्थान सरकार की कोई जिम्मेदारी नहीं होगी।
  • रोजगार देने से पहले अथवा सेवा लेने से पहले श्रमिक/ जन-शक्ति की स्किल /योग्यता की जांच करना नियोक्ता की स्वयं की जिम्मेदारी होगी इस संबंध में राज-कौशल पोर्टल/राजस्थान सरकार की कोई जिम्मेदारी नहीं होगी।

राज कौशल पोर्टल – rajkaushal.gov.in

Leave a Reply

Your email address will not be published.

error: © RajRAS