आरएएस मुख्य परीक्षा 2021: सामान्य अध्ययन प्रश्न पत्र 1

आरएएस मुख्य परीक्षा 2021: सामान्य अध्ययन प्रश्न पत्र 1

आरएएस मुख्य परीक्षा के सामान्य ज्ञान एवं सामान्य अध्ययन प्रश्न पत्र 1 पाठ्यक्रम में इतिहास, अर्थशास्त्र, समाजशास्त्र, लेखा और लेखा परीक्षा के विषयों पर तीन इकाइयाँ शामिल हैं। इनमें से प्रत्येक विषय इकाई को आगे संबंधित भागों में विभाजित किया गया है | हालाँकि पाठ्यक्रम में विस्तार से जाने से पहले आइए हम पहले पिछले आरएएस मुख्य परीक्षा के सामान्य ज्ञान एवं सामान्य अध्ययन प्रश्न पत्र 1 में अंकों के वितरण को देखें:

आरएएस 2018 मुख्य परीक्षा प्रश्न पत्र 1 – अंकों का वितरण

इकाईइकाई के विषय2 अंक के प्रश्न5 अंक के प्रश्न10 अंक के प्रश्नकुल अंक
Iइतिहास55475
IIअर्थव्यवस्था55365
III-Aसमाजशास्त्र5220
III-Bप्रबंधन5220
III-Cलेखांकन एवं अंकेक्षण5220
कुल अंक508070200

सामान्य ज्ञान एवं सामान्य अध्ययन प्रश्न पत्र 1 – विस्तृत पाठ्यक्रम

इकाई I – इतिहास

पाठ्यक्रम एवं पढ़ने के स्रोत

खंड अ – राजस्थान का इतिहास, कला, संस्कृति, साहित्य परम्परा और धरोहर पढ़ने के स्रोत
  • प्रागैतिहासिक काल से 18 वीं शताब्दी के अवसान तक राजस्थान के इतिहास के प्रमुख सोपान, महत्वपूर्ण राजवंश , उनकी प्रशासनिक एवं राजस्व व्यवस्था।
  • 19 वी -20वीं शताब्दी की प्रमुख घटनाएं: किसान एवं जनजाति आन्दोलन, राजनीतिक जागृति , स्वतन्त्रता संग्राम और एकीकरण।
  • राजस्थान की धरोहर: प्रदर्शन व ललित कलाएं , हस्तशिल्प व वास्तुशिल्प , मेले , पर्व, लोक संगीत व लोक नृत्य।
  • राजस्थानी साहित्य की महत्वपूर्ण कृतियाँ एवं राजस्थान की बोलियाँ।
  • राजस्थान के संत , लोक देवता एवं महत्वपूर्ण विभूतियाँ।
राजस्थान का इतिहास
खंड ब- भारतीय इतिहास एवं संस्कृति पढ़ने के स्रोत
  • भारतीय धरोहर : सिन्धु सभ्यता से लेकर ब्रिटिश काल तक के भारत की ललित कलाएँ , प्रदर्शन कलाएँ , वास्तु परम्परा एवं साहित्य।
  • प्राचीन एवं मध्यकालीन भारत के धार्मिक आन्दोलन और धर्म दर्शन।
  • 19वीं शताब्दी के प्रारंभ से 1965 ईस्वी तक आधुनिक भारत का इतिहास: महत्वपूर्ण घटनाक्रम, व्यक्तित्व और मुद्दे।
  • भारत का राष्ट्रीय आन्दोलन – इसके विभिन्न चरण व धाराएं , प्रमुख योगदानकर्ता और देश के भिन्न भिन्न भागों से योगदान।
  • 19वी -20वीं शताब्दी में सामाजिक- धार्मिक सुधार आन्दोलन।
  • स्वातंत्र्योत्तर सुदृढीकरण और पुनर्गठन- देशी रियासतों का विलय तथा राज्यों का भाषायी आधार पर पुनर्गठन।
 
खंड स- आधुनिक विश्व का इतिहास (1950 ईस्वी तक) पढ़ने के स्रोत
  • पुनर्जागरण व धर्म सुधार।
  • प्रबोधन व औद्योगिक क्रांति।
  • एशिया व अफ्रीका में साम्राज्यवाद और उपनिवेशवाद।
  • विश्व युद्धों का प्रभाव।
 

आरएएस 2018 मुख्य परीक्षा: इतिहास के प्रश्न

2 अंक के प्रश्न
1. प्राचीन भारत के किन तीन ग्रन्थों को ‘प्रस्थान त्रयी’ कहा जाता है ?
2. अर्जुन की तपस्या प्रतिमा का संक्षिप्त विवरण दीजिए ?
3. विश्व वल्लभ ग्रंथ का संक्षिप्त विवरण दीजिए।
4. इंगजी और जवाहरजी कौन थे ?
5. 18वीं शताब्दी के यूरोपियन प्रबोधन को परिभाषित कीजिए।
5 अंक के प्रश्न
6. हड़प्पा स्थलों से प्राप्त काँस्य मूर्तियों पर एक लघु लेख लिखिए।
7. भारतेन्दु हरिश्चंद्र हिन्दी साहित्य में आधुनिक प्रवृत्तियों के अग्रदूत थे । विवेचना कीजिए ।
8. मोलेला कलाकारों द्वारा टेराकोटा वस्तुओं के निर्माण में प्रयुक्त विधि का वर्णन कीजिए।
9. राजस्थान के जागीरदारी क्षेत्रों में कृषक असंतोष के कारणों की विवेचना कीजिए।
10. राष्ट्रीय एकता को सदृढ़ करने हेतु राज्य पुनर्गठन आयोग द्वारा दिए गए सुझाव क्या थे ?
10 अंक के प्रश्न
11. 19वीं शताब्दी का भारतीय पुनर्जागरण पश्चिम की चुनौती एवं प्रेरणा का परिणाम था। आलोचनात्मक परीक्षण कीजिए।
12. 20वीं शताब्दी में भारतीय क्रान्तिकारी स्वतंत्रता आन्दोलन के विकास की रूपरेखा प्रस्तुत कीजिए।
13. राजस्थान के निम्नलिखित पुरातात्विक स्थलों का संक्षिप्त विवरण दीजिए : (1) बागोर (2) कालीबंगा (3) आहाड़
14. अन्तर्राष्ट्रीय राजनीति पर द्वितीय विश्वयुद्ध के प्रभाव का विवेचन कीजिए।

इकाई II – अर्थव्यवस्था

पाठ्यक्रम एवं पढ़ने के स्रोत

खण्ड अ- भारतीय अर्थशास्त्र पढ़ने के स्रोत
  • अर्थव्यवस्था के प्रमुख क्षेत्र : कृषि, उद्योग और सेवा- वर्तमान स्थिति, मुद्दे एवं पहल
  • बैंकिंग : मुद्रा-पूर्ति और उच्चाधिकार प्राप्त मुद्रा की अवधारणा, केन्द्रीय बैंक एवं वाणिज्य बैंकों की भूमिका एवं कार्यप्रणाली, अनर्जक परिसंपत्ति, वित्तीय समावेशन, मौद्रिक नीति अवधारणा, उद्देश्य और साधन।
  • लोक वित्तः भारत में कर सुधार- प्रत्यक्ष एवं अप्रत्यक्ष कर, परिदान, नकद हस्तांतरण और अन्य संबंधी मुद्दे, भारत की वर्तमान राजकोषीय नीति।
  • भारतीय अर्थव्यवस्था में हाल के रूझान- विदेशी पूंजी की भूमिका, बहराष्ट्रीय कंपनियां, सार्वजनिक वितरण प्रणाली, प्रत्यक्ष विदेशी निवेश, निर्यात-आयात नीति, 12 वित्त आयोग, गरीबी उन्मूलन योजनाएं।
 
खंड ब- भारतीय इतिहास एवं संस्कृति पढ़ने के स्रोत
  • वैश्विक आर्थिक मुद्दे और प्रवृत्तियाँ : विश्व बैंक, अंतर्राष्ट्रीय मुद्रा कोष और विश्व व्यापार संगठन की भूमिका।
  • विकासशील, उभरते और विकसित देशों की संकल्पना।
  • वैश्विक परिदृश्य में भारत।
 
खण्ड स- राजस्थान की अर्थव्यवस्था पढ़ने के स्रोत
  • राजस्थान के विशेष संदर्भ में कृषि, बागवानी, डेयरी और पशुपालन।
  • औद्योगिक क्षेत्र : संवृद्धि और हाल के रूझान।
  • राजस्थान के विशेष संदर्भ में संवृद्धि, विकास और आयोजना।
  • राजस्थान के सेवा क्षेत्र में वर्तमान में हुए विकास एवं मुद्दे।
  • राजस्थान की प्रमुख विकास परियोजनाएं- उनके उद्देश्य और प्रभाव |
  • राजस्थान में आर्थिक परिवर्तन के लिए सार्वजनिक निजी भागीदारी मॉडल।
  • राज्य का जनांकिकी परिदृश्य और राजस्थान की अर्थव्यवस्था पर इसका प्रभाव।
राजस्थान की अर्थव्यवस्था

आरएएस 2018 मुख्य परीक्षा: अर्थव्यवस्था के प्रश्न

2 अंक के प्रश्न
1. 2017-18 में भारत से सर्वाधिक निर्यात होने वाले चार देशों के नाम घटते हुए क्रम में लिखिए ।
2. राजस्थान में यंग इन्टर्न कार्यक्रम का मुख्य उद्देश्य क्या है ?
3. राजकोषीय समेकन क्या है ?
4. ऋणात्मक ब्याज़ दर क्या है ?
5. i-Start राजस्थान का मुख्य उद्देश्य क्या है ?
5 अंक के प्रश्न
6. राजस्थान में मुख्यमंत्री जल स्वावलम्बन अभियान के प्रमुख बिन्दुओं को लिखिये ।
7. राज्य में स्वास्थ्य संकेतकों में सुधार हेतु राजस्थान सरकार द्वारा उठाए गए छह प्रमुख कदमों के नाम बताइये ।
8. भारत सरकार की भारतमाला परियोजना से आप क्या समझते हैं ?
9. भारत में उर्वरक अनुदानों के लिये प्रत्यक्ष लाभ हस्तांतरण व्यवस्था क्या है ?
10. स्वचालित मार्ग तथा सरकारी मार्ग, जिसके द्वारा भारत प्रत्यक्ष विदेशी निवेश प्राप्त करता है, को समझाइये ।
10 अंक के प्रश्न
11. भारत में आधारभूत ढाँचे में निवेश की समस्याओं तथा भविष्य की आवश्यकताओं पर लेख लिखिए ।
12. व्यवसाय सुगमता के लिए विश्व बैंक द्वारा निर्धारित घटक बतलाइए । भारत की व्यवसाय सुगमता में रैंक बढ़ने हेतु कौन से घटक हैं ?
13. पूर्वी राजस्थान नहर परियोजना पर संक्षिप्त टिप्पणी लिखिए ।

इकाई III – समाजशास्त्र, प्रबंधन, लेखांकन एवं अंकेक्षण

पाठ्यक्रम एवं पढ़ने के स्रोत

खण्ड अ- समाजशास्त्र पढ़ने के स्रोत
  • भारत में समाजशास्त्रीय विचारों का विकास
  • सामाजिक मूल्य
  • जाति वर्ग और व्यवसाय
  • संस्कृतिकरण
  • वर्ण, आश्रम, पुरूषार्थ एवं संस्कार व्यवस्था
  • धर्म निरपेक्षता
  • मुद्दे एवं सामाजिक समस्याएं
  • राजस्थान के जनजातीय समुदाय- भील, मीणा एवं गरासिया
 
खण्ड ब- प्रबंधन पढ़ने के स्रोत
  • प्रबंधन क्षेत्र, अवधारणा, प्रबंधन के कार्य – योजना, आयोजन, स्टाफ, निर्देशन, समन्वय और नियंत्रण, निर्णय लेना :अवधारणा, प्रक्रिया और तकनीक।
  • विपणन की आधुनिक अवधारणा, विपणन मिश्रण-उत्पाद. मूल्य, स्थान और संवर्धन
  • धन के अधिकतमकरण की अवधारणा एवंम उददेश्य, वित्त के स्त्रोत – छोटी और लंबी अवधि, पूंजी संरचना, पूंजी की लागत
  • नेतृत्व और प्रेरणा की अवधारणा और मुख्य सिद्धांत, संचार प्रक्रिया, भर्ती, चयन, प्रेरण, प्रशिक्षण एवं विकास और मूल्यांकन प्रणाली के मूल सिद्धांत
 
खण्ड स- लेखांकन एवं अंकेक्षण पढ़ने के स्रोत
  • वित्तीय विवरण विश्लेषण की तकनीक, कार्यशील पूंजी प्रबंधन के मूल सिद्धांत, जवाबदेही और सामाजिक लेखांकन |
  • अंकेक्षण का अर्थ एवं उद्देश्य ,आंतरिक नियंत्रण, सामाजिक, प्रदर्शन और कार्यकुशलता अंकेक्षण।
  • विभिन्न प्रकार के बजट एवं उनके मूल सिदधांत, बजटीय नियंत्रण
 

आरएएस मुख्य परीक्षा: समाजशास्त्र के प्रश्न

आरएएस2 अंक के प्रश्न
20181. असंस्कृतिकरण क्या है?
20182. ‘सीमंतोन्नयन संस्कार’ क्या है?
20183. जाति एक अंतर्विवाही समूह है। कैसे ?
20184. सामाजिक विचारधारा क्या है?
20185. ‘सागड़ी प्रथा’ निषेध अधिनियम क्या हैं ?
20161. चारशास्त्रीय भारतीय समाजशास्त्री का नाम बताइए जिन्होंने भारतीय समाजशास्त्र में अग्रणी योगदान दिया?
20162. जाति परंपरागत रूप से समाज में श्रम विभाजन से कैसे जुड़ी है?
20163. संस्कृतिकरण की प्रक्रिया से आप क्या समझते हैं ?
20164. बाल विवाह से आप क्या समझते हैं ?
20165. राजस्थान के आदिवासी जिन चार प्रमुख समस्याओं का सामना कर रहे हैं, उनकी पहचान करें?
आरएएस5 अंक के प्रश्न
20186. लौकिकीकरण ने धर्म में क्या परिवर्तन किये हैं
20187. राजस्थान में जनजातियों की समस्याओं को हल करने के लिए संवैधानिक प्रयास बताइये
20166. जीएस घुर्ये द्वारा दी गई जाति की विशेषताओं का वर्णन करें?
20167. आतंकवाद के सामाजिक परिणामों की व्याख्या करें?

आरएएस 2018 मुख्य परीक्षा: प्रबंधन के प्रश्न

2 अंक के प्रश्न
1. निर्देशन की एकता का सिद्धान्त क्या है ?
2. अनौपचारिक संगठन से आप क्या समझते हैं ?  
3. संधारणीय विपणन विचार को संक्षेप में समझाइये ।
4. अल्पकालीन वित्त के उपकरण के रूप में व्यापारिक पेपर” क्या है ?
5. संचार में अर्थपूर्ण बाधाओं से आप क्या समझते हैं
5 अंक के प्रश्न
6. अभिप्रेरण के द्वि-कारक सिद्धान्त को समझाइये ।
7. सम्पदा को अधिकतम करने की अवधारणा को समझाइये ।

आरएएस 2018 मुख्य परीक्षा: लेखांकन एवं अंकेक्षण के प्रश्न

2 अंक के प्रश्न
1. कुशलता अंकेक्षण को परिभाषित कीजिए।
2. वित्तीय विवरण पत्रों के विश्लेषण के संदर्भ में अनुपात विश्लेषण क्या है ?
3. बजटन से आप क्या समझते हैं ?
4. सामाजिक अंकेक्षण क्या है ?
5. कोष प्रवाह विश्लेषण तकनीक क्या है ?
5 अंक के प्रश्न
6. शून्य आधार बजटन पर टिप्पणी लिखिए ।
7. कार्यशील पूँजी की परिचालन चक्र अवधारणा क्या है ?

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: © RajRAS