राजस्थान के विद्युत ऊर्जा स्त्रोत, संसाधन एवं क्षमता

राजस्थान के विद्युत ऊर्जा स्त्रोत, संसाधन एवं क्षमता

ऊर्जा सही रूप में अर्थव्यवस्था की रीढ़ कहलाती है। यह क्षेत्र सभी क्षेत्रों-कृषि उद्योग एवं सेवा क्षेत्र में सभी तरह की आर्थिक गतिविधियों को सम्भव बनाता है। इसके अलावा, यह लाखों घरों को रोशन करता है और जन साधारण के जीवन स्तर को ऊपर उठाने में महत्वपूर्ण भूमिका निभाता हैं। राजस्थान का बिजली नेटवर्क देश की प्रमुख प्रणालियों में से एक है, जो विभिन्न उपभोक्ताओं की मांगों की पूर्ति करता है।

भारत की स्वतंत्रता के समय, राजस्थान में विद्युतीकृत शहरों और गांवों की कुल संख्या 42 से अधिक नहीं थी और स्थापित उत्पादन क्षमता केवल 13.27 मेगावाट थी। 1 जुलाई 1957 को राजस्थान राज्य विद्युत बोर्ड (RSEB) के गठन के साथ, राजस्थान में बिजली क्षेत्र को प्राथमिकता मिली और पूरे राज्य में बिजली परियोजनाएँ शुरू हुईं।

राजस्थान राज्य विद्युत बोर्ड (RSEB) राज्य में बिजली उत्पादन, पारेषण और वितरण के लिए प्रमुख एजेंसी थी। लेकिन 19 जुलाई 2000 के बाद, बुनियादी ढांचे को मजबूत करने और उत्पादन, पारेषण और वितरण कार्यों को अलग करने के लिए RSEB को 5 अलग-अलग कंपनियों में पुनर्गठित किया गया है।

  • उत्पादन:
    • राजस्थान राज्य विद्युत उत्पादन निगम लिमिटेड (RVUNL)
  • ट्रांसमिशन:
    • राजस्थान राज्य विद्युत प्रसारण निगम लिमिटेड (RVPNL)
  • वितरण:
    • जयपुर विद्युत वितरण निगम लिमिटेड (JVVNL)
    • जोधपुर विद्युत वितरण निगम लिमिटेड (JDVVNL)
    • अजमेर विद्युत वितरण निगम लिमिटेड (AVVNL)

राजस्थान के विद्युत ऊर्जा स्त्रोत के प्रकार:

ऊर्जा स्त्रोतों को दो भागों में विभक्त किया जाता है

  • परम्परागत ऊर्जा स्त्रोत
    • तापीय ऊर्जा – कोयला (हार्मल पावर) खनिज तेल (पेट्रोलियम),
    • जल विद्युत
    • अणु शक्ति
  • गैर-परम्परागत स्त्रोत (अथवा ऊर्जा के वैकल्पिक स्त्रोत)
    • सौर ऊर्जा,
    • पवन ऊर्जा,
    • ज्वारीय ऊर्जा,
    • बायो गैस।

राज्य में मार्च, 2021 तक ऊर्जा की अधिष्ठापित क्षमता 21,979 मेगावॉट थी। अधिष्ठापित क्षमता में वर्ष 2021-22 में दिसम्बर, 2021 तक 1,342.50 मेगावॉट की वृद्धि हुई। इस प्रकार दिसम्बर, 2021 तक अधिष्ठापित क्षमता बढ़कर 23,321.40 मेगावॉट हो गई है। (संदर्भ – राजस्थान की आर्थिक समीक्षा 2021-22)

राजस्थान के विद्युत ऊर्जा स्त्रोत एवम क्षमता(दिसंबर 2021 तक)
राजस्थान के विद्युत ऊर्जा स्त्रोत अधिष्ठापित क्षमता
(मेगावाट)
कुल का प्रतिशत
तापीय ऊर्जा (कोयला)13475.4657.8%
जल विद्युत1757.957.5%
गैस आधारित824.623.5%
अणु शक्ति456.741.9%
सौर ऊर्जा2970.6012.7%
पवन3734.1016.0%
बायोमास101.950.4%
Total23,321.40100%

राजस्थान के विद्युत ऊर्जा स्त्रोतों का विस्तृत विवरण

  • तापीय ऊर्जा
    • कोयला (थर्मल पावर),
    • खनिज तेल (पेट्रोलियम),
    • गैस आधारित,
  • जल विद्युत
  • अणु शक्ति
  • सौर ऊर्जा
  • पवन
  • बायोमास

Leave a Reply

Your email address will not be published.

error: © RajRAS