राजस्थान स्थिति, विस्तार, आकृति एवं भौतिक स्वरूप

राजस्थान स्थिति, विस्तार, आकृति एवं भौतिक स्वरूप

राजस्थान स्थिति, विस्तार, आकृति एवं भौतिक स्वरूप: राजस्थान राज्य भारत के उत्तरी-पश्चिमी भाग में 23°3′ से 30°12′ उत्तरी अक्षांश से 69°29′ से 78°17′ पूर्वी देशान्तर के मध्य स्थित है। राज्य की पश्चिमी सीमा भारत-पाकिस्तान की अन्तर्राष्ट्रीय सीमा है, जो 1070 किलोमीटर लम्बी है। राज्य की उत्तरी और उत्तरी-पूर्वी सीमा पंजाब तथा हरियाणा से पूर्वी सीमा उत्तर प्रदेश एवं मध्य प्रदेश से, दक्षिणी-पश्चिमी सीमा क्रमशः मध्य प्रदेश तथा गुजरात से संयुक्त है। कर्क रेखा ( 23°12°) अक्षांश राज्य के दक्षिण में बाँसवाड़ा-दूंगरपुर जिलों से गुजरती है।

राजस्थान भौतिक विस्तार एवं आकृति:

राजस्थान का क्षेत्रीय विस्तार 3,42,239 वर्ग किलोमीटर में है जो भारत के कुल क्षेत्र का 10.41 प्रतिशत है। अतः क्षेत्रफल की दृष्टि से यह भारत का सबसे बड़ा राज्य है। राजस्थान की आकृति विषम कोण चतुर्भुज के समान है। राज्य की उत्तर से दक्षिण लम्बाई 826 किलोमीटर तथा पूर्व से पश्चिम चौड़ाई 869 किलोमीटर है।

राजस्थानः स्थिति, विस्तार, आकृति एवं भौतिक स्वरूप – महत्वपूर्ण बिंदु
  • राजस्थान के क्षेत्रफल की दृष्टि से वृहत् जिले
    • जैसलमेर – 38401 वर्ग किमी.
    • बाड़मेर – 28387 वर्ग किमी.
    • बीकानेर – 27244 वर्ग किमी.
    • जोधपुर -22850 वर्ग किमी.
  • राजस्थान का क्षेत्रफल की दृष्टि से सबसे छोटा जिला:
    • धौलपुर (3034 वर्ग किमी.) है।
    • दूसरा सबसे छोटा जिला ‘ दौसा’ (3432 वर्ग किमी.) है|
  • राजस्थान में कर्क रेखा:
    • राजस्थान राज्य का अधिकांश भाग कर्क रेखा के उत्तर में स्थित है।
    • कर्क रेखा राज्य के डूंगरपुर जिले की दक्षिणी सीमा से होती हुई बाँसवाड़ा जिले के लगभग मध्य से गुजरती है।
    • बांसवाड़ा कर्क रेखा के सर्वाधिक नजदीक शहर है।

राजस्थान की सीमाएँ

राज्य की कुल स्थल सीमा 5920 किमी. है। जिसमें से 1070 किमी. अंतर्राष्ट्रीय सीमा है और 4850 किमी अंतर्राज्यीय सीमा है|

अंतर्राष्ट्रीय सीमा

भारत और पाकिस्तान के मध्य स्थित अंतर्राष्ट्रीय सीमा 3323 कि.मी. है। इसमें से 2308 कि.मी. रेडक्लिफ रेखा है, जो गुजरात से चलकर जम्मू कश्मीर तक जाती हैं|

  • रेडक्लिफ रेखा:
    • राजस्थान के समीप, भारत और पाकिस्तान के मध्य स्थित अंतर्राष्ट्रीय सीमा – रेडक्लिफ रेखा पर आधारित हैं|
    • इसके संस्थापक सर सिरिल एम रेडक्लिफ (Cyril Radcliffe) को माना जाता है।
    • 17 अगस्त 1947 को भारत विभाजन के बाद भारत और पाकिस्तान के बीच की यह सीमा रेखा प्रकाशित की गयी |
    • यह रेखा आज पश्चिमी छोर पर भारत और पाकिस्तान के बीच और पूर्वी तरफ भारत और बांग्लादेश के बीच की अंतर्राष्ट्रीय सीमा है।
  • रेडक्लिफ रेखा राजस्थान के चार जिलों से लगती है।
    • जैसलमेर – 464 किमी
    • बाड़मेर – 228 किमी
    • श्रीगंगानगर – 210 किमी
    • बीकानेर – 168 किमी
अंतर्राज्यीय सीमा
  • राजस्थान की अंतर्राज्यीय सीमा 4850 किमी. है |
    • पंजाब 89 किमी – सर्वाधिक: श्री गंगानगर | न्यूनतम: हनुमानगढ़
    • हरियाणा 1,262 किमी – सर्वाधिक: हनुमानगढ़ | न्यूनतम: जयपुर
    • उत्तरप्रदेश 877 किमी – सर्वाधिक: भरतपुर | न्यूनतम: धौलपुर
    • मध्य प्रदेश 1,600 किमी – सर्वाधिक: झालावाड़ | न्यूनतम: भीलवाड़ा
    • गुजरात 1022 किमी – सर्वाधिक: उदयपुर | न्यूनतम: बाड़मेर
  • राजस्थान के परिधिय जिले – 25
  • अन्य राज्यों की सीमाओं से लगने वाले राजस्थान के जिले:
    • पंजाब 2 जिले – गंगानगर, हनुमानगढ़।
    • हरियाणा 7 जिले – हनुमानगढ़, चूरू, झंझुनूं, सीकर, जयपुर, अलवर, भरतपुर ।
    • उत्तर प्रदेश 2 जिले – भरतपुर, धौलपुर।
    • मध्य प्रदेश 10 जिले – धौलपुर, करौली, सवाईमाधोपुर, कोटा, बाराँ, झालावाड़, चित्तौड़गढ़, भीलवाड़ा, बाँसवाड़ा व प्रतापगढ़।
    • गुजरात 6 जिले – बाँसवाड़ा, डूंगरपुर उदयपुर, सिरोही, जालौर व बाड़मेर |
  • राजस्थान के अन्तर्वर्ती जिले 8 हैं (जो किसी अन्य राज्य/राष्ट्र के साथ कोई सीमा नहीं बनाते) – पाली, जोधपुर, नागौर, अजमेर, दौसा, टोंक, बूंदी, राजसमन्द।
  • पाली जिले की सीमा सर्वाधिक जिलों (8) अजमेर, बाड़मेर जालौर, जोधपुर, नागौर, राजसंमद, सिरोही व उदयपुर से मिलती है।
  • राजस्थान के अन्तर्राज्जीय सीमा वाले जिले – 23
  • राजस्थान के केवल अन्तर्राज्जीय सीमा वाले जिले – 21 | 2 ऐसे जिले है जिनकी अन्तर्राज्जीय एवं अन्तराष्ट्रीय सीमा है-
    • गंगानगर(पाकिस्तान + पंजाब),
    • बाड़मेर(पाकिस्तान+ गुजरात)
  • राजस्थान के 4 जिले ऐसे है जिनकी सीमा दो – दो राज्यों से लगती है |
    • हनुमानगढ़:- पंजाब + हरियाणा
    • भरतपुर:- हरियाणा + उतरप्रदेश
    • धौलपुर:- उतरप्रदेश + मध्यप्रदेश
    • बांसवाड़ा:- मध्यप्रेदश + गुजरात
  • झालावाड़ जिले की अन्तर्राज्यीय सीमा सबसे लंबी है जो मध्यप्रदेश के साथ लगती है। तथा बाड़मेर जिला सबसे छोटी अन्तर्राज्यीय सीमा बनाता है जो गुजरात से मिलती है।

राजस्थान के जिलों की आकृतियां

  • अजमेर – त्रिभुजाकार
  • चित्तौड़ – घोड़ की नाल सदृश्य
  • भीलवाड़ा – लगभग आयताकार
  • सीकर – प्यालाकार/अर्द्धचंद्राकार
  • जोधपुर – आॅस्ट्रेलिया/मयूराकार
  • जैसलमेर – अनियमित बहुभुज
  • बाड़मेर – अलगभ भारत जैसा
  • दौसा – धनुषाकार
  • टोंक – पतंगाकार/चतुर्भुजाकार
  • करौली – बतखाकार

राजस्थान स्थिति, विस्तार, आकृति एवं भौतिक स्वरूप

3 thoughts on “राजस्थान स्थिति, विस्तार, आकृति एवं भौतिक स्वरूप

  1. agar gujrat ki antarajiya seema sabse chhoti Barmer hai to upar whi suchna me jhalwad likha hua hai (Nyuntam)

Leave a Reply

Your email address will not be published.

error: © RajRAS