राजस्थान का प्राचीन इतिहास

राजस्थान का प्राचीन इतिहास

पुरातत्ववेत्ताओं के अनुसार राजस्थान प्राचीन इतिहास पूर्व पाषाणकाल से प्रारंभ होता है। राजस्थान की यह मरुभूमि प्राचीन सभ्यताओं की जन्म स्थली रही है। यहाँ कालीबंगा, आहड़, बैराठ, बागौर, गणेश्वर जैसी अनेक पाषाणकालीन, सिन्धुकालीन और ताम्रकालीन सभ्यताओं का विकास हुआ, जो राजस्थान के इतिहास की प्राचीनता सिद्ध करती है। यह पृष्ठ राजस्थान के प्राचीन इतिहास को 1200 ईसवी तक संग्रहित करता है और इसे दो खंडों में विभाजित किया गया है:

  • 900 ईसवी तक
  • 900 से – 1200 ईसवी तक

राजस्थान का प्राचीन इतिहास (900 ईसवी तक)

पाषाण काल
  • पुरा पाषाण काल
    • 5,00,000 – 1,00,000 ईसा पूर्व: निम्न पुरापाषाण काल [ डीडवाना ]
    • 1,00,000 – 40,000 ईसा पूर्व: मध्य पुरापाषाण काल [ लूणी घाटी | बूढ़ा पुष्कर ]
    • 40,000 – 10,0000 ईसा पूर्व: उच्च पुरापाषाण काल
  • 10,000 – 5,000 ईसा पूर्व: मध्य पाषाण काल [ बागोर | तिलवाड़ा ]
  • 5000 – 1000 ईसा पूर्व: नव पाषाण काल
सिंधु घाटी सभ्यता
  • 3500 – 2500 ईसा पूर्व: सिंधु घाटी या हड़प्पा सभ्यता [ कालीबंगा | बहरोड़ | करनपुरा ]
राजस्थान की ताम्र पाषाण संस्कृति
  • 3000 – 1500 ईसा पूर्व: अहर-बनास संस्कृति [ आयड़ | ओजियाना | गिलुंड |बालाथल | पचमता ]
  • 2500 – 2000 ईसा पूर्व: गेरू रंग का बर्तनों (OCP) संस्कृति [ गणेश्वर | जोधपुरा ]
राजस्थान में लौह-युग
  • 1500 – 500 ईसा पूर्व: वैदिक काल के दौरान राजस्थान
राजस्थान का ऐतिहासिक काल

राजस्थान का प्राचीन इतिहास (900 – 1200 ईसवी तक)

प्राचीन राजस्थान के शासक
  • मंडोर के गुर्जर-प्रतिहार
  • भीनमाल के प्रतिहार
  • मेवाड़ का गुहिल वंश
  • शाकंभरी के चौहान
  • रणथंभौर के चौहान

——-लिंक अपडेट जारी है। नीले रंग के लिंक सक्रिय हैं |—–

सबंधित पीडीऍफ़:

  • RBSE:
    • राजस्थान अध्ययन इतिहास के अध्याय एकत्रित किये हुए: डाउनलोड पीडीऍफ़
  • निर्माण आईएएस:
error: © RajRAS